Sports

कुश्ती ट्रायल प्रतियोगिता में खिलाडियों ने दिखाए दांवपेंच

बिनौली,23 मई 2024  (यूटीएन)। दाहा की चौधरी फेरु सिंह कुश्ती एकेडमी में बुधवार को सब जूनियर जिला स्तरीय कुश्ती प्रतियोगिता में कुश्ती खिलाडियों ने दांवपेंच दिखाए। शुभारंभ मुख्य अतिथि वरिष्ठ रालोद नेता व गुरुकुल इंटरनेशनल स्कूल प्रबंधक डा अनिल आर्य ने मैट पर कुश्ती खिलाडियों से हाथ मिलवाते हुए किया।    मुख्य अतिथि ने कहा कि ,कुश्ती हमारा परंपरागत खेल है, जिसमें हमारे ग्रामीण अंचल के खिलाडियों ने अपनी प्रतिभा के बूते एशियन व ओलंपिक गेम्स में देश के लिए तमगे जीतकर नाम रोशन किया है।    ट्रायल में ग्रीको रोमन पुरुष वर्ग में 45 किग्रा भार वर्ग में जुनैद लोयन, 48 में वंश ककोर, 51 में पारुल तुगाना, 60 में उत्सव बदरखा, 65 में चंदन सिंह नगला, 80 में प्रियांशु बदरखा, 92 में निशांत बिजरोल, 110 में अक्षय निरपुड़ा, जबकि महिला वर्ग में 40 किग्रा में तनीषा पंवार बसी, 43 में राधिका कुर्डी, 46 में ईशा खोखर छपरौली, 49 में पूर्वी तोमर लोयन, 53 में कृष्णा बदरखा, 57 में पारुल किरठल, 73 में अंजली पंवार दोघट जीती।    फ्री स्टाइल कुश्ती में 45 में शुभम् अलावलपुर, 48 में अनिकेत मलकपुर, 51 में दानिश छपरौली, 55 में विशाल रंछाड़, 60 में नदीम छपरौली, 65 में अक्षय हिलवाड़ी, 71 में शामून छपरौली,80 में लोकेश मिलाना,92 किग्रा भार में रोनक बदरखा, 110 में अक्षय निरपुड़ा ने विजेता रहे।    जिला कुश्ती संघ अध्यक्ष धर्मेंद्र खोखर ने बताया कि, सभी विजेता पहलवानों का प्रदेश स्तरीय प्रतियोगिता के लिए चयन हुआ है। इस मौके पर जिला कुश्ती संघ सचिव सुनील राणा, एनआईएस कोच आदेश कुमार, हरेंद्र कुमार, प्रशांत मलिक कोच, जितेंद्र राणा कोच, रालोद प्रदेश उपाध्यक्ष अनिल डबास, रघुनाथ खलीफा, अनिल आर्य  देशपाल खलीफा, चरण सिंह खलीफा, गुल्लू राणा आदि मौजूद रहे।   स्टेट ब्यूरो,( डॉ योगेश कौशिक ) |

admin

May 23, 2024

23 वीं सब जूनियर प्रतियोगिता के लिए श्रीराम पब्लिक स्कूल के 8 खिलाड़ी चयनित

दोघट, 22 मई 2024  (यूटीएन)। कस्बे के श्री राम पब्लिक स्कूल के 8 खिलाड़ियों का चयन 23 वीं सब जूनियर प्रतियोगिता के लिए किया गया है। प्रधानाचार्य डॉ राजीव तोमर ने प्रेस वार्ता करते हुए बताया कि ,23 से 26 मई तक लखनऊ के केडी सिंह बाबू स्टेडियम में 23 वी सब जूनियर राज्य वूशु प्रतियोगिता का आयोजन किया जायेगा। प्रतियोगिता में श्रीराम पब्लिक स्कूल दोघट के 8 खिलाड़ियों का चयन किया गया है।   जिसमें 80 किग्रा भार वर्ग में शौर्य राठी,सब जूनियर 36 किग्रा बालक वर्ग में केशव , 48 किग्रा भार वर्ग में सुहान 39 किग्रा में सार्थक मलिक, 24 किग्रा में नाइस,39 किग्रा भार वर्ग में अलिश, 36 किग्रा में आरव तोमर, 36 किग्रा भार वर्ग में रोहित शर्मा ने उत्तर प्रदेश वुशू चेंपियशिप में अपना स्थान बनाया है।    वुशू जिला सचिव राज विपिन ने बताया कि 23 वीं सब जूनियर राज्य वुशू प्रतियोगिता में प्रदेश के जिलों से लगभग पांच सौ खिलाड़ी प्रतिभाग करेंगे। बागपत से श्री राम पब्लिक स्कूल दोघट के खिलाड़ियों की टीम 22 मई को लखनऊ के लिए रवाना होगी । उन्हें उम्मीद है कि, उनके खिलाडी राज्य स्तरीय सब जूनियर वुशू प्रतियोगिता में अपना दम दिखाते हुए मैडल पर कब्ज़ा करेंगे।   स्टेट ब्यूरो,( डॉ योगेश कौशिक ) |

admin

May 22, 2024

अपने विवेकानंद स्कूल पहुंच कर मुकेश और सरगम हुए भावुक

पिंजौर,15 मई 2024  (यूटीएन)। ढोल, नगाड़े और ताशों की धुन पर नाचते छात्र, हाथों में बैनर लेकर खड़े हुए विद्यार्थी, पोस्टर और बैनरों से सजे सेंट विवेकानंद मिलेनियम स्कूल, एचएमटी टाउनशिप, पिंजौर की सातवीं कक्षा की छात्रा सरगम बादल तथा डांस कोरियोग्राफर मुकेश बादल का विद्यालय पहुंचने पर भव्य स्वागत किया गया ।   गौरतलब है कि टीवी चैनल कलर्स पर प्रसारित होने वाले कार्यक्रम डांस ‘दीवाने 4’ में मुकेश बदल एवं सरगम बादल टॉप 7 में पहुंच चुके हैं। आज वे अपने विवेकानंद विद्यालय में कलर टीवी चैनल की पूरी टीम के साथ पहुंचे जहां उनका भव्य स्वागत किया गया। विद्यालय में पहुंचकर सर्वप्रथम विद्यालय के प्रधानाचार्य डॉ पीयूष पुंज एवं विद्यालय प्रबंधन समिति के सदस्य कर्नल एन आर बब्बरवाल द्वारा पुष्प गुच्छ देकर स्वागत किया गया। यह क्षण अत्यंत भावपूर्ण था, मुकेश बदल, सरगम बादल तथा विद्यालय के प्रचार्य पीयूष पुंज गले लग कर भावुक हो गए। विद्यालय में पहुंचकर उन्होंने सर्वप्रथम मां सरस्वती का दंडवत झुक कर आशीर्वाद लिया एवं पूजन अर्चन किया, साथ ही विद्यालय के आदर्श स्वामी विवेकानंद जी की प्रतिमा को माल्यार्पण किया ।   सातवीं कक्षा के छात्रों के लिए भी यह कम भावपूर्ण क्षण नहीं था जब उन्होंने अपनी कक्षा की छात्रा सरगम बादल का तिलक लगाकर विद्यालय में स्वागत किया ।   विद्यालय द्वारा मुख्य अतिथि के लिए विशेष सभा का आयोजन भी किया गया। इस कार्यक्रम का शुभारंभ मुकेश बादल द्वारा ही सिखाए गए हरियाणवी डांस के द्वारा हुआ जिस पर मुकेश बदल सरगम सहित विद्यालय के प्रधानाचार्य एवं अन्य सदस्यों ने भी जमकर डांस किया। विद्यालय द्वारा दोनों अतिथियों को स्टार विवेकानंद के सम्मान से सम्मानित किया गया। डांस दीवाने 4 में सरगम बादल की उत्कृष्ट प्रस्तुति व कड़ी मेहनत को देखकर विद्यालय द्वारा प्रोत्साहन स्वरूप उन्हें कक्षा 12वीं तक स्कॉलरशिप प्रदान करने की घोषणा की गई ।   इस अवसर पर मुकेश बादल ने कहा कि आज वह जो कुछ भी हैं, वह विवेकानंद विद्यालय की वजह से है, वह पिछले 16 सालों से विद्यालय से जुड़े हुए हैं, तथा उनकी बेटी भी इसी विद्यालय में पढ़ती है। उन्होंने प्रधानाचार्य जी का अद्भुत स्वागत के लिए धन्यवाद किया और भविष्य में भी उनका समर्थन और सहायता करने का आग्रह किया।   विद्यालय के प्रधानाचार्य डॉ. पीयूष पुंज ने बताया कि मुकेश बादल का जीवन अत्यंत संघर्षमय रहा है, लेकिन इन्होंने अपने जीवन में कभी भी संघर्षों को हावी नहीं होने दिया, उन्होंने हमेशा डटकर मुकाबला किया है, जिससे उन्हें आज डांस दीवाने 4 के अंतिम 7 प्रतिभागियों में पहुंच चुके हैं। विद्यालय को आप पर गर्व है और विद्यालय हर परिस्थितियों में आपके साथ खड़ा है। स्कूल द्वारा सुनील शेट्टी, माधुरी दीक्षित और भारती के लिए स्वामी विवेकानंद का साहित्य मुकेश बादल के हाथों भेजा गया ।   हरियाणा-स्टेट ब्यूरो, (सचिन बराड़)।

admin

May 15, 2024

पांचवे विशाल क्रिकेट महाकुंभ का गांव पपलोहा में आयोजन, विजेता टीम के लिए ट्रैक्टर ईनाम

कालका, 05 मई 2024  (यूटीएन)।  समाजसेवी अमित गुज्जर द्वारा युवाओं में खेलो की प्रतिभा को उभारने के लिए हर वर्ष की तरह इस बार भी गांव पपलोहा में पांचवे विशाल क्रिकेट महाकुंभ का आयोजन किया गया जिसमें पिंजौर, कालका समेत आसपास क्षेत्र से दर्जनों क्रिकेट टीमों ने हिस्सा लिया।   क्रिकेट टूर्नामेंट का शुभारंभ गत 3 मई को हुआ। रविवार को पांचवे विशाल क्रिकेट महाकुंभ के फाइनल मैच में मुख्यातिथि बलवान सिंह ठाकुर समाजसेवी एंव भाजपा युवा नेता पहुंचे, उन्होंने खिलाड़ियों का हौंसला बढ़ाते हुए कहा कि खेलो में किसी भी प्रतियोगिता में हिस्सा लेना बहुत बड़ी बात होती है ।   खेल ही है जो शारीरिक और मानसिक विकास करने के साथ साथ युवा पीढ़ी नशों से दूरी रखता है। अब तो खेलो में अव्वल रहने वाले खिलाड़ियों को बहुत सी सुविधाएं भी मिलती है इसके साथ खेलो में युवाओं की बढ़ती रुचि से उनके उज्ज्वल भविष्य का रास्ता खुलता है।   इस मौके पर समाजसेवी अमित गुज्जर ने मुख्यातिथि बलवान सिंह ठाकुर को स्मृति चिन्ह भेंट करके समानित किया मुख्यातिथि के साथ मुकुल ठाकुर भी मौजूद रहे। पांचवे विशाल क्रिकेट महाकुंभ के आयोजक अमित गुज्जर ने बताया कि महाकुंभ का आयोजन लोगो के सहयोग से भी किया गया है जिसमे प्रथम रहने वाली टीम को ट्रैक्टर, 61 हजार और विजेता ट्राफी, रनरअप टीम के लिए रनरअप ट्राफी, 31 हजार रु, तीसरे और चौथे नम्बर पर रही टीम के लिए 8100 रु का इनाम, बेस्ट बैट्समैन और बेस्ट बॉलर के लिए 5100 रु का इनाम रखा गया।    हरियाणा-स्टेट ब्यूरो, (सचिन बराड़)।

Ujjwal Times News

May 5, 2024

आईसीसी की टीम रैंकिंग जारी, भारत वनडे और टी20 में शीर्ष पर, ऑस्ट्रेलिया ने टेस्ट में मारी बाजी

नई दिल्ली, 04 मई 2024  (यूटीएन)। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने शुक्रवार को सालाना टीम रैंकिंग अपडेट जारी की। इसमें ऑस्ट्रेलिया टेस्ट क्रिकेट में शीर्ष स्थान पर है, जबकि भारत ने सफेद गेंद के दोनों प्रारूपों, यानी वनडे और टी20 में अपना दबदबा बरकरार रखा है। मौजूदा टेस्ट चैंपियन ऑस्ट्रेलिया ने पिछले साल द ओवल में विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के खिताबी मैच में भारत पर 209 रन की शानदार जीत दर्ज की थी। उन्होंने सालाना अपडेट में भारत को पीछे छोड़कर शीर्ष स्थान हासिल किया है। टीम इंडिया टेस्ट रैंकिंग में दूसरे स्थान पर लुढ़क गई है।   ऑस्ट्रेलिया के 124 अंक हो गए हैं और वह अपने करीबी प्रतिद्वंद्वी और पिछले साल विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के उप विजेता भारत (120) से चार अंक आगे है। वहीं, इंग्लैंड (105) तीसरे स्थान पर है। टेस्ट रैंकिंग में दक्षिण अफ्रीका (103), न्यूजीलैंड (96), पाकिस्तान (89), श्रीलंका (83), वेस्टइंडीज (82) और बांग्लादेश (53) अपने-अपने स्थान पर काबिज हैं।   *सालाना अपडेट कैसे होता है?* सालाना अपडेट में 2020-21 सत्र के नतीजे हटा दिये गये हैं और इसमें मई 2021 के बाद पूरी हुई सभी सीरीज शामिल हैं। भारत मुख्यत: 2020-21 में आस्ट्रेलिया में मिली 2-1 की जीत के रैंकिंग के हटाए जाने से दूसरे स्थान पर खिसका। एक टीम को रैंकिंग तालिका में शामिल होने के लिए तीन साल में न्यूनतम आठ टेस्ट खेलने होते हैं। हालांकि, सालना अपडेट के बाद भारत वनडे और टी20 अंतरराष्ट्रीय रैंकिंग में शीर्ष पर कायम है। इसमें मई 2023 से पहले पूरे हुए मैच के 50 प्रतिशत और इसके बाद के मैच के शत प्रतिशत अंक शामिल हैं। *वनडे रैंकिंग* भारत (122 अंक) ने टेस्ट टीम रैंकिंग में शीर्ष स्थान खो दिया है, लेकिन वनडे और टी20 में सबसे आगे बने हुए हैं। भारत भले ही ऑस्ट्रेलिया (116) से वनडे विश्व कप फाइनल हार गया हो, लेकिन उसने उस पर बढ़त तीन से बढ़ाकर छह अंक की कर ली है। शीर्ष 10 में कोई बदलाव नहीं हुआ है। वनडे विश्व कप 2023 के फाइनल में ऑस्ट्रेलिया से हारने के बावजूद उस टूर्नामेंट में 10 मैचों की लगातार जीत ने टीम इंडिया को फायदा पहुंचाया।    तीसरे स्थान पर दक्षिण अफ्रीका (112) है, जो ऑस्ट्रेलिया से सिर्फ चार रेटिंग अंक पीछे है, जबकि पाकिस्तान (106) और न्यूजीलैंड (101) शीर्ष पांच में शामिल हैं। सातवें स्थान पर काबिज श्रीलंका (93), छठे स्थान पर काबिज इंग्लैंड (95) से सिर्फ दो रेटिंग अंक पीछे है। वहीं, बांग्लादेश (86), अफगानिस्तान (80) और वेस्टइंडीज (69) की टीमें शीर्ष 10 में शामिल हैं। *टी20 रैंकिंग* टी20 अंतरराष्ट्रीय रैंकिंग में ऑस्ट्रेलियाई टीम इंग्लैंड को हटाकर दूसरे स्थान पर पहुंच गई है, लेकिन 264 रेटिंग अंक हासिल करने वाली भारतीय टीम से सात अंक पीछे है। दक्षिण अफ्रीका की टीम इंग्लैंड से दो अंक पीछे चौथे स्थान पर है। न्यूजीलैंड के भी दक्षिण अफ्रीका की तरह 250 अंक हैं, लेकिन दशमलव की गणना में उससे पीछे है। वेस्टइंडीज के 249 अंक हैं। इससे तीसरे स्थान पर काबिज इंग्लैंड और छठे स्थान की वेस्टइंडीज के बीच केवल तीन अंक का अंतर है। पाकिस्तान की टीम दो पायदान के नुकसान से सातवें स्थान पर खिसक गई। स्कॉटलैंड (192) एक लंबी छलांग के साथ 12वें स्थान पर पहुंच गया है। स्कॉटलैंड ने जिम्बाब्वे (191) को पीछे छोड़ दिया और शीर्ष-12 में जगह बनाई है।   विशेष संवाददाता, (प्रदीप जैन) |

Ujjwal Times News

May 4, 2024

एसोचैम ने विश्व आईपी दिवस पर भारत के गेमिंग उद्योग के लिए मजबूत आईपी कानूनों पर चर्चा शुरू की

नई दिल्ली, 01 मई 2024  (यूटीएन)। भारतीय गेमिंग उद्योग की पर्याप्त वृद्धि को स्वीकार करते हुए, जिसका मूल्य अब $3.49 बिलियन है, चर्चा का उद्देश्य गेम डेवलपर्स और हितधारकों को उनकी मूल रचनाओं की सुरक्षा में आने वाली चुनौतियों से निपटना था। बढ़ती मांग के जवाब में, उद्योग ने 900 से अधिक एमएसएमई सहित कई स्टार्टअप और गेम डेवलपर्स के उद्भव को देखा है, जिन्होंने नए और अद्वितीय इंटरैक्टिव इलेक्ट्रॉनिक गेम तैयार करने में महत्वपूर्ण संसाधनों, समय और प्रयास का निवेश किया है। उल्लेखनीय तथ्य यह है कि भारत में 41% गेमर्स महिलाएं हैं, जो इंटरैक्टिव इलेक्ट्रॉनिक गेम्स के विविध दर्शकों को रेखांकित करता है।   एसोसिएटेड चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री ऑफ इंडिया (एसोचैम) ने विश्व आईपी दिवस पर इंटरएक्टिव इलेक्ट्रॉनिक गेम्स से संबंधित बौद्धिक संपदा पर एक गोलमेज सम्मेलन की मेजबानी की। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में दिल्ली उच्च न्यायालय की न्यायाधीश माननीय न्यायमूर्ति श्रीमती प्रथिबा एम. सिंह, वरिष्ठ अधिवक्त अमित सिब्बल, पार्टनर और राष्ट्रीय प्रैक्टिस प्रमुख देव रॉबिन्सन सहित सम्मानित अतिथि उपस्थित थे। - आईपीआर, शार्दुल अमरचंद मंगलदास एंड कंपनी, और श्री साईकृष्ण राजगोपाल, मैनेजिंग पार्टनर, साईकृष्णा एंड एसोसिएट्स। इस कार्यक्रम में राजशेखर राव वरिष्ठ अधिवक्ता, हरीश वैद्यनाथन शंकर, केंद्र सरकार के स्थायी वकील, प्रोफेसर डॉ. अलका चावला, डॉ. अजय गर्ग और राकेश माहेश्वरी, पूर्व-एमईआईटीवाई और संबंधित मंत्रालयों के प्रतिष्ठित अधिकारियों ने भी भाग लिया। , सरकारी विभाग, डीपीआईआईटी, आईपीओ, बौद्धिक संपदा कानून (आईपी) बार और बिरादरी के कई प्रमुख सदस्य, इलेक्ट्रॉनिक, डिजिटल इंटरैक्टिव गेम उद्योग के सदस्य और अन्य संबंधित हितधारकों के प्रतिनिधि।   भारत में ऐसे इंटरैक्टिव इलेक्ट्रॉनिक ऑनलाइन गेम के लिए सबसे बड़ा उपभोक्ता आधार होने और इसके परिणामस्वरूप ऐसे गेम और गेमर्स की संख्या में वृद्धि के बावजूद, यह तेजी से स्पष्ट हो गया है कि भारत संयुक्त राज्य अमेरिका, चीन, फ्रांस आदि जैसे विभिन्न देशों से पीछे है। ., ऐसे इंटरैक्टिव इलेक्ट्रॉनिक ऑनलाइन गेम के नए और मूल तत्वों की सुरक्षा के संदर्भ में। सुरक्षा की इस स्पष्ट कमी के पीछे एक आम विषय, और उद्योग हितधारकों के लिए एक निरंतर दर्द बिंदु, धारणा की लड़ाई लड़ना रहा है जहां कौशल-आधारित इंटरैक्टिव इलेक्ट्रॉनिक गेम्स को ऑनलाइन जुआ या सट्टेबाजी गेम के साथ जोड़ा जाता है।   विचार-विमर्श विभिन्न कानूनी पहलुओं पर केंद्रित था, सभी एक सामान्य लक्ष्य की ओर अग्रसर थे: मूल इलेक्ट्रॉनिक, डिजिटल इंटरैक्टिव गेम्स की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए आदर्श तरीके को आगे बढ़ाना और मैप करना। हालांकि इस बात पर विवाद करने की बहुत कम गुंजाइश है कि किसी खेल के नियम सुरक्षा के लिए अक्षम हैं, इस चर्चा के दौरान बार-बार जोर देने का मुद्दा अद्वितीय तत्वों और पहले से अनदेखे तरीके या इंटरैक्टिव गेम की अभिव्यक्ति की रक्षा करने की सख्त जरूरत थी, जो इन मौलिक गेम से परे हैं। इंटरैक्टिव इलेक्ट्रॉनिक गेम के संबंध में विचारों को साकार करने और इसकी रचनात्मक विशेषताओं की रक्षा करने के महत्व पर सहमति प्राप्त की गई। पैनलिस्टों और उपस्थित लोगों ने इस बात पर बहस की कि ऐसी सुरक्षा कैसे लागू की जा सकती है।    कुछ लोगों का तर्क है कि मौजूदा बौद्धिक संपदा नियम पहले से ही ऐसी सुरक्षा के विकल्प देते हैं। उदाहरण के लिए, यह दावा किया गया था कि ऑनलाइन इंटरैक्टिव गेम को 1957 के कॉपीराइट अधिनियम के तहत 'कंप्यूटर प्रोग्राम' के रूप में संरक्षित किया जाना चाहिए। यह भी सिफारिश की गई थी कि गेम खेलने के अलावा अन्य पहलुओं को 1970 के पेटेंट अधिनियम के तहत कवर किया जा सकता है। कानूनी मिसालों का इस्तेमाल किया गया था सुरक्षा योग्य अभिव्यक्तियों और ऑनलाइन इंटरैक्टिव गेम के तत्वों और असुरक्षित गेम नियमों के बीच अंतर स्थापित करें। चर्चा में इस बात पर जोर दिया गया कि मौका-आधारित खेल अस्वीकार्य हैं, और कानून द्वारा केवल कौशल-आधारित खेलों की अनुमति है। यह नोट किया गया कि आईटी मंत्रालय द्वारा जारी ऑनलाइन गेमिंग नियम अनुमत गेम के संबंध में बहुत जरूरी विधायी स्पष्टता प्रदान करते हैं।   इन नियमों को लागू करना कौशल-आधारित गेम के लिए एक रूपरेखा प्रदान करने और उपयोगकर्ताओं को ऑनलाइन गेमिंग, विशेष रूप से अवैध गेमिंग प्लेटफार्मों से जुड़े जोखिमों से बचाने के लिए आवश्यक माना जाता है। यह चर्चा एक आवश्यक चर्चा की शुरुआत का प्रतीक है और अभिनव और मूल ऑनलाइन, इलेक्ट्रॉनिक इंटरैक्टिव गेम की सुरक्षा के लिए उद्योग की अत्यधिक आवश्यकता को रेखांकित करती है। हालांकि चल रही तकनीकी प्रगति के लिए भारत में गेम डेवलपर्स के सामने आने वाली चुनौतियों का समाधान करने के लिए नए कानून की आवश्यकता हो सकती है, लेकिन इस बात पर आम सहमति है कि न्यायिक मान्यता और सुरक्षा को प्राथमिकता दी जानी चाहिए।   इस आकर्षक चर्चा से मुख्य बात यह है कि सामग्री के सार्वजनिक प्रसार और इसके निर्माण को प्रोत्साहित करने के बीच न्यायपालिका और विधायिका के ठोस प्रयासों के माध्यम से हासिल किया गया संतुलन बनाने का महत्व है। अंततः, जो नकल करने लायक है वह बचाने लायक है!    विशेष संवाददाता, (प्रदीप जैन) |

admin

May 1, 2024

साउथ एशियन गेम्स में जनपद को गौरवान्वित करने वाली दीपांशी पंवार के सम्मान में शबगा ने बिछाए पलक पांवडे

शबगा (छपरौली), 01 मई 2024  (यूटीएन)। जूडो कराटे में साउथ एशियन गेम्स में सिल्वर मेडल जीतने वाली दीपांशी पंवार के स्वागत में शबगा के लोगों ने पलक पांवडे बिछा दिए। खुली कार में अपनी कोच रीतू मान के साथ गांव में पहुंची खिलाड़ी दीपांशी पंवार पर फूलों की वर्षा करते हुए तथा ढोल नगाड़े की थाप व डीजे पर बज रहे राष्ट्र प्रेम के गीतों की धुन पर भारतमाता की जय के नारों के बीच नाचते गाते राष्ट्रीय शबगा इंटर कॉलेज में आयोजित सम्मान समारोह में लाया गया।    सम्मान समारोह के मुख्य अतिथि पूर्व विधायक साहब सिंह रहे जबकि अध्यक्षता रालोद के राष्ट्रीय महासचिव राजेन्द्र शर्मा ने की। इस अवसर पर अंतर्राष्ट्रीय कोच रीतू मान ने कहा कि,सौभाग्य है कि, दीपांशी की खेल प्रतिभा को तराशने का उन्हें मौका मिला , जिसमें अपार संभावनाएं हैं एशियाई खेलों तथा ओलंपिक में भी देश का नाम रोशन करेगी।पूर्व मंत्री कुलदीप उज्ज्वल ने कहा कि, हरियाणा की तरह पश्चिमी उत्तर प्रदेश में खेल सुविधा मुहैया कराने के लिए रालोद सुप्रीम जयंत चौधरी की मुहिम युवाओं की प्रतिभा को निखारने और आगे बढने में कारगर सिद्ध होगी।      इस अवसर पर गांव की ओर से जूडो खिलाड़ी और कोच का जोरदार स्वागत किया गया। दोनों को पुष्प गुच्छ, नोटों की माला, पगड़ी, सम्मान पत्र व मोमंटो भेंट किया गया। समारोह में पूर्व विधायक गजेंद्र मुन्ना, मैनेजर धर्मेन्द्र पंवार, जाट सभा के जिलाध्यक्ष गजेन्द्र धामा, महासचिव अंजू खोखर, श्रीपाल शर्मा, पुरुषोत्तम शर्मा, हिंद केसरी सुभाष पहलवान आदि ने कहा कि, जनपद के युवाओं को खेल में उज्ज्वल भविष्य के लिए दीपांशी पंवार से प्रेरणा लेनी चाहिए।    *दो बेटों के मुकाबले बेटी पर सर्वाधिक गर्व : हरेन्द्र पंवार*   सम्मान समारोह में मौजूद दीपांशी के पिता हरेन्द्र पंवार ने वार्ता के दौरान कहा कि, उनके दो बेटे हैं तथा एक बेटी है। अपनी बेटी दीपांशी पर सर्वाधिक गर्व महसूस करते हैं क्योंकि, इसने परिवार ही नहींं गांव तथा जनपद को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दी है, सीना गर्व से चौड़ा हो रहा है।    *एनएएस ट्रस्ट भी करेगी दीपांशी का जोरदार सम्मान मेरठ में: राजेन्द्र शर्मा*   दीपांशी पंवार के सम्मान समारोह में उसकी खेल प्रतिभा से अभिभूत एन ए एस ट्रस्ट की ओर से पूर्व विधायक राजेन्द्र शर्मा ने कहा कि, खेल प्रतिभाओं तथा युवाओं के लिए दीपांशी पंवार प्रेरणा का माध्यम बनेगी। सामान्य किसान परिवार ने जिस तरह बेटी के उज्ज्वल भविष्य के लिए कोच और गुरुकुल संस्था पर विश्वास कर यह मुकाम हासिल किया है, इससे युवाओं को आगे बढने की प्रेरणा मिलेगी। कहा कि, नानक चंद ट्रस्ट की ओर से मेरठ में कार्यक्रम आयोजित कर उदीयमान खिलाड़ी को सम्मानित किया जाएगा तथा बडी घोषणा भी की जाएगी।    *पढाई के मुकाबले खेल को ज्यादा महत्व देकर किया मुकाम हासिल: दीपांशी*   दीपांशी इस समय मोर माजरा ( करनाल) के गुरुकुल में कक्षा 11 की छात्रा है, उसने बताया कि, वह गई थी तो गुरुकुल में पढाई के जरिये केरियर बनाने, लेकिन कोच ने उसे खेल में ऐसा रमा दिया तथा परिवार के सभी सदस्यों ने इतना सहयोग दिया कि, पढाई को कम समय तथा खेल प्रेक्टिस को ज्यादा समय देकर यह मुकाम हासिल किया। दावा किया कि, अपनी कोच रीतू मान के कुशल निर्देशन में गोल्ड मेडल भी हासिल कर जनपद ही नहींं देश को भी गौरवान्वित करूंगी।   स्टेट ब्यूरो,( डॉ योगेश कौशिक ) |

Ujjwal Times News

May 1, 2024

साउथ एशियन महिला जूडो में सिल्वर मेडल विजेता दीपांशी पंवार का विभिन्न गांवों में हुआ जोरदार स्वागत

बडौत,01 मई 2024  (यूटीएन)। केरल के कोच्चि में संपन्न हुई प्रथम साउथ एशियन महिला जूड़ो चैपियनशिप में शबगा गांव की बेटी दीपांशी पंवार ने जीता सिल्वर मेडल। छात्रा को ग्रामीणों बड़ौत से शबगा गांव तक जुलूस के रूप में ले जाया गया। दस किमी लम्बे रास्ते के कई गांवों उसका जोरदार स्वागत किया गया।   19 से 21 अप्रैल के बीच हुई केरल राज्य के कोच्चि के सेकरेड हार्ट कालेज में हुई इस चेंपियनशिप में भारत, श्रीलंका, नेपाल, बांग्लादेश, मालदीव आदि देशों के खिलाड़ियों ने भाग लिया था, जिसमें शबगा निवासी हरेन्द्र पंवार किसान की बेटी दीपांशी पंवार ने अपनी खेल प्रतिभा के बल पर सिल्वर मेडल जीता। हरियाणा के करनाल जिले के मोर माजरा स्थित आर्य कन्या गुरुकुल की कक्षा 11 की छात्रा दीपांशी ने प्रतियोगिता में 78 किलोभार वर्ग में भागीदारी करते हुए सिल्वर मेडल झटका ।   जूड़ो खिलाड़ी दीपांशु पंवार का बड़ौत में बजाज बाइक एजेंसी पर अरुण तोमर उर्फ बोबी के नेतृत्व में जोरदार स्वागत किया गया, जबकि लोयन गांव में चेयरमैन धर्मेन्द्र लोयन के नेतृत्व में आदर्श नंगला में संजीव मान पूर्व जिला पंचायत सदस्य ने स्वागत किया।   इस अवसर पर आर्य कन्या गुरुकुल के अध्यक्ष सुखवीर मान, इंटरनेशनल जूड़ो कोच रितु मान, एड सुखवीर सिंह, भूपेन्द्र मान, ईश्वर मान,गुरुदेव सिंह कादियान,चौ ओमप्रकाश, धर्मपाल सिंह, प्रमोद सिंह, प्रमोद पंवार चेयरमैन, वेदपाल सिंह,ओमवीर सिंह, रामपाल सिंह,विक्रम सिंह,भीम प्रधान, धर्मेंन्द्र मैनेजर,अशोक पंवार आदि मौजूद रहे।   स्टेट ब्यूरो,( डॉ योगेश कौशिक ) |

admin

May 1, 2024