Entertainment

रेनबो इंटरनेशनल स्कूल नगरोटा बगवां में टैलेंट का महासंग्राम में प्रतिभागियों ने दिखाई अपनी कला

हिमाचल प्रदेश, 15 जुलाई 2024 (यूटीएन)। आपना कांगड़ा एंटरटेनमेंट के बैनर तले जहां पूरे हिमाचल में ऑडिशन लिए जा रहे हैं, उसी कड़ी को आगे बढ़ते हुए रविवार को टैलेंट का महासंग्राम के ऑडिशन नगरोटा बगबां के रेनबो इंटरनेशनल स्कूल में लिए गए , ऑडिशन में प्रतिभागियों ने सिंगिंग नृत्य पेंटिंग योग और मॉडलिंग में अपनी-अपनी कला के जलवे दिखाए और निर्णायक मंडल को दांतों तले उंगली चबाने पर मजबूर कर दिया। जानकारी के लिए बता दे की ऑडिशन में 45 से 50 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया था , जिसमें‌‌‌‌‌ सिंगिंग के निर्णायक मंडल में हिमाचल प्रदेश की मखमली आवाज मानसिंह जी ने सिंगिंग के प्रतिभागियों की प्रतिभा को निखारा , वहीं डांस के निर्णायक मंडल में चिंकी गुप्ता और विवेक कुमार ने अपनी पैनी नजर से प्रतिभागियों के हुनर को परखा , पेंटिंग के निर्णायक मंडल में विशाल की अहम भूमिका रही , मॉडलिंग के निर्णायक मंडल में प्रीति सिंह और खुशबु की भूमिका अहम रही। सभी निर्णायक मंडल ने प्रतिभागियों के उज्जवल भविष्य की कामना की और ऐसे कार्यक्रमों में अधिक से अधिक भाग लेने के लिए युवा युवकों और युवतियों को प्रेरित किया और अधिक से अधिक संख्या में भाग देने के लिए जागरूक किया। इस अवसर पर हिमाचल प्रदेश के लोक गायक करनैल राणा जी , हिमाचल प्रदेश के कालजुए पीड फेम अमित मीतू , हिमाचल प्रदेश के कॉमेडियन प्रिंस गर्ग जी मौजूद रहे और उन्होंने अपनी कॉमेडी के जलवे से दर्शकों को तालियां बजाने पर मजबूर कर दिया । इस अवसर पर टी सीरीज कंपनी से पोलाराम ढांगवाला जी मुख्य रूप से उपस्थित रहे और उन्होंने हिमाचल फिल्म फौजीए दी फैमिली के लिए कुछ कलाकारों को चयनित किया जो कि अपने आप में एक बहुत बड़ी उपलब्धि है।  बता दें की फौजीए दी फैमिली पार्ट 2 की शूटिंग जल्द ही पूरे हिमाचल में शुरू हो जाएगी और जल्द ही यह फिल्म दर्शकों के लिए टी सीरीज कंपनी के बैनर तले देखने को मिलेगी। इस अवसर पर हिमाचल प्रदेश के फनकार एंकर संदीप चौधरी और विजय कुमार ने अपनी मखमली आवाज से दर्शकों को बैठने पर मजबूर कर दिया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में डॉक्टर नरेश बरमाणी और बिशेष अतिथि के रूप में कुलदीप धीमान ने शिरकत की और प्रतिभागियों उज्जवल भविष्य की कामना की। इस अवसर पर संचालक सुमित गुप्ता ने बताया कि आगे जो फाइनल होगा, वह प्रतिभागियों के लिए मुश्किल होने वाला है और प्रतिभागी किसी भी तरह की लापरवाही ना बरतते हुए पूरी तैयारी के साथ आएं। इस अवसर पर बिलासपुर हमीरपुर मंडी कांगड़ा से आए हुए प्रतिभागियों ने भी भाग लिया और अपनी कला के जलवे दिखाए। कार्यक्रम में आपना कांगड़ा एंटरटेनमेंट की ब्रांड प्रमोटर आरबी सोनी और प्रेजी शर्मा ने अपनी प्रस्तुतियों से दर्शकों को मंत्र मुक्त कर दिया और योग गर्ल अवंतिका ठाकुर ने अपनी प्रस्तुति देकर दर्शकों को एक जगह पर स्थित रहकर अपनी प्रस्तुति देखने के लिए मजबूर कर दिया । कार्यक्रम में युवा कवि लेखक डॉ राजीव डोगरा,समाजसेवी पूजन भंडारी , बाबा त्रिलोकनाथ , अनिल गुप्ता , त्रिलोक धीमान , रविंदर कपूर विशेष रूप से उपस्थित रहे और कार्यक्रम को सफल बनाने में उनका विशेष योगदान रहा। डॉ.राजीव डोगरा (युवा कवि व लेखक) पता-गांव जनयानकड़। 

Ujjwal Times News

Jul 15, 2024

Shubhangi Atre: My biggest USPs are my simplicity, childlike nature, and cheerfulness

Mumbai, 15 July 2024 (UTN). Actress Shubhangi Atre says that when it comes to knowing herself, she is very confident in her skin. She describes herself as a simple person with a clear understanding of what she wants. I would say my biggest USPs are my simplicity, childlike nature, and cheerfulness. I'm very straightforward, always curious, and a very positive, optimistic, and genuine person. It's easy for me because I know myself very well. I don't get confused; I know who I am and I stay true to that. I'm the same person I was when I first entered the industry: simple, a bit naive, and quick to trust people.   I believe these are great qualities. My mother always told me, ‘Be strong, but don't deceive anyone.’ So, even if someone tries to fool me, I stay straightforward. It doesn't mean I let people take advantage of me all the time, but if someone wrongs me, it's their loss. I just keep walking my honest and clear path. And it's easy for me because I know myself very well,” she says.   She notes that she is guarded in some situations. “I am a private person. I definitely keep a filter on how much I share and where. Not everyone knows me well, and people might have their own perceptions, but I can't open up to everyone. I have a very close circle, and I can only be very free with them,” she says.   She adds, “My close friends know how crazy and fun-loving I am. From a distance, it might not be obvious. Many people tell me I'm like a mirror—if I'm angry, happy, sad, upset, or irritated, it shows on my face. I don't need to do anything alone to express these feelings. However, if I'm crying, I go into hibernation mode. When I cry, I completely isolate myself; that's my very private time, and I can't cry in front of others or show it off.”   Talking about seeking validation, she says, “I always ask my sisters, my mom, and my daughter Aashi for their opinions because they are my biggest critics. Their validation means a lot to me and has always had a positive impact on me. Besides that, I always follow my heart and never make decisions with just my head. I always listen to my heart.”   The actress adds that being in your comfort zone is important. “Our life is very long, so it's not necessary to always keep struggling and avoiding your comfort zone. Life comes in phases. Sometimes you really need to be in your comfort zone to gather your energy. At times, stepping out of your comfort zone can make you very tired and mentally drained. It's important to return to your comfort zone occasionally to recharge and rejuvenate. I think it depends on the phases of our life. Sometimes you should experiment and explore, and sometimes it's okay to stay in your comfort zone.”   She continues, “There have been many incidents in my life where I stepped out of my comfort zone. The biggest one was when I moved from Pune to Mumbai. My daughter Aashi was just 11 months old, and leaving her behind was really tough. I used to stay at home and take care of Aashi, but suddenly, I entered this industry, and overnight, everything changed. Of course, stepping out of your comfort zone helps. If you want to achieve something, you have to leave your comfort zone. You should work hard, be ambitious, optimistic, and positive. Consistency is key.   Mumbai-Reporter, (Hitesh Jain).

Ujjwal Times News

Jul 15, 2024

Self-validation is the biggest yes: Twinkle Arora

Mumbai, 15 July 2024 (UTN). Udaariyaan fame actor Twinkle Arora, who is currently seen in Khubsurrat, says though she indulged in seeking validation from others earlier, she has now learned the power of self-validation.   She said, “Seeking validation has been a big part of my learning process. I was a person who needed validation in many places, but over time I have learned and am still learning that self-validation is the biggest yes. One should not be affected if one does not get validation from others. It's easy to say this, but mastering it takes effort, which I'm also trying.”   She described herself as loving, positively naughty, ambitious, kind, and an overthinker. She added, “I'm someone who is fun-loving and just needs the right company.”   Twinkle believes that she represents a different side of herself with different people, and she is totally different when she is alone. She said, “When I'm in a professional environment, I have my own silent, calm, professional attitude. And when I am with my friends, I'm just a time bomb or a laughter box.”   “When no one is watching, we are just ourselves. There are a few things that one would never do in front of people but would do when alone. For example, I would never eat with a fork and knife at home while sitting alone, but I would definitely eat like that when I'm in a gathering,” she added.   She also spoke about comfort zone and said that it is important to step out of it for growth.   “There's a saying, ‘Growth comes when you step out of your comfort zone.’ I think we change our comfort zone over time. Once we step out of our comfort zone, the new zone we enter eventually becomes our comfort zone. So, we keep changing it. Sometimes it is necessary to stay in your comfort zone for protection, but stepping out of it is also very important for growth,” she said.   How has moving out of your comfort zone helped you? “Moving out of my comfort zone has helped me understand a lot of things as a human. When one tries to step out, all the fears of existence and survival pop up and try to hold you back. But for growth, you have to step out anyway. I have learned that once you step out of your comfort zone, you learn new things, set new boundaries, and eventually make the new zone your comfort zone. After a while, you will have to leave it again for better growth,” Twinkle ended.   Mumbai-Reporter, (Hitesh Jain).

Ujjwal Times News

Jul 15, 2024

I remain true to myself on social media: Pravina Deshpande

Mumbai, 15 July 2024 (UTN). Pravina Deshpande, who has done films like Ready, Jalebi, Ek Villain, Monsoon Out, Khamosh Adalat Jari Hai, Jalebi, Bose: Dead/Alive, Avrodh, and Rocket Boys, to name a few, believes social media has become a very important part of our lives today. She feels it’s a good platform to reach people and showcase our talent. But she likes to keep it private and stays true to her real self.      She said, “Social media plays a vital role these days. People have made big fortunes out of it. For actors, it’s a boon, for sure. I personally use digital media for my own growth as an actor and as a human being. I can see others' work, appreciate and learn what to do and what not to do, what’s trending, what’s coming up, and also reach casting team members. I am a little private, and my posts are generally work-related. I remain true to myself on social media.”      She doesn’t get overwhelmed by seeing others around her become more popular than her. She is her own competition, and she believes that there is something for everyone out there.   “It’s interesting to see how a few have the talent to showcase themselves and their work and become popular.That surely takes a lot of effort, I feel. Since I have always been my own competitor and selective about what I accept, I know such things take time. I am pretty cool about others doing well and hope to get what I desire and deserve.   There is a lot of work and something good for everyone,” she said.   Pravina also credited social media for getting her some interesting roles, like playing Smt. Prabhavati Bose (Netaji’s mother) in Bose: Dead/Alive, a marathi film( unreleased ) and a short film in Marathi, “Prakash”, on Alzheimer’s, which won many awards and was screened at the Stuttgart International Film Festival. She added, “So it surely works.”  She also revealed that casting teams refer to an actor’s social media a lot more these days. About her being less active on these platforms she says, ”I have fewer posts, but I get lot of love and support on my posts. I am so grateful for that, though I understand I have to share more.   Social media is a great tool for casting, but casting outside the box has given great results these days. Also, traditional acting skills and the actor's experience should not be overlooked,” she said.   “A couple of years ago, I lost a short story with a brand, as they wanted the actor to put it as a story on Instagram for a day. No points for guessing that after talking about commercials and blocking the dates, they all vanished. So that was a learning, a message in bold letters,” she added.   Mumbai-Reporter, (Hitesh Jain).

Ujjwal Times News

Jul 15, 2024

I am very happy and want to continue growing gradually: Sayli Salunke

Mumbai, 15 July 2024 (UTN). Sayli Salunkhe, who is seen as Vedika in Prateek Sharma and Parth Shah’s Pukaar: Dil Se Dil Tak, which is produced under their banner, LSD Studios, is happy with the way her career is moving and wants it to grow gradually.   “When I look back at myself from ten years ago, I feel a sense of pride. I think, ‘Oh my god, what have I accomplished?’ I feel proud of myself and grateful to my parents because, without them, I wouldn't be here today. I am very happy and want to continue growing gradually. Sudden growth can pull you down just as quickly, so I want to enjoy this journey and take my time,” she said.   “This slow process is what brings true enjoyment. I would say I have a beautiful life. God is with me, my parents are with me, and I have everyone's blessings. I feel like I am a blessed child, and many things are happening in a lovely and easy way for me. I am very happy,” she added.   Coming from a middle-class background, she never imagined seeing herself on-screen, and she is happy to see herself in a better career prospect now.   “I am very happy to see myself in a better position now because otherwise, I might have been working in a corporate job. But at some point, I felt that I wouldn't be able to do it all,” she said.   “It has been a very beautiful journey, and I have learned many wonderful things along the way. Every journey has its ups and downs, and mine is no different. In fact, this is how we grow as individuals. I never thought I would become an actor, but these things just happened, and it has been a lovely journey,” she added.   For Sayli, growth and life ambitions are important. She feels that if one doesn’t have any motive or desire for something in life, they can't grow.   “If you stay at one stage in life, you can only enjoy it for so long. Growth is necessary for everyone. You will grow when you have ambitions and a set goal in your life. Once you have a goal, you feel the need to keep moving forward. Without ambitions, I think we remain stuck, both as individuals and in our work. So, I believe having ambitions is extremely important,” she ended.   Mumbai-Reporter, (Hitesh Jain).

Ujjwal Times News

Jul 15, 2024

फिल्म सरफिरा: आम आदमी की ऊंची उड़ान में सपनों का पंख लगाते अक्षय

नई दिल्ली, 12 जुलाई  2024 (यूटीएन)। 2021 से अक्षय कुमार लगातार कई फिल्मों में नजर आ रहे हैं, लेकिन इस बीच फिल्म ‘ओएमजी 2’ को छोड़कर उनकी बाकी फिल्में बॉक्स ऑफिस पर कोई जादू नहीं चला पाईं. अब जो अक्षय की फिल्म 12 जुलाई को सिनेमाघरों में रिलीज होने जा रही है, वो आपकी उम्मीदों से कहीं बेहतर होगी. जी हां, अक्षय ने फिल्म ‘सरफिरा’ से बड़े पर्दे पर धमाकेदार वापसी है. वह एक शानदार और कमाल की फिल्म लेकर दर्शकों के बीच आए हैं. वैसे, इस बार जब मैं ‘सरफिरा’ को लेकर दर्शकों के दिमाग में एक ही बात चल रही थी कि कहीं अक्षय फिर निराश तो नहीं करेंगे, लेकिन नहीं ऐसा बिलकुल भी नहीं हुआ. फिल्म ने शुरुआत से जो रफ्तार पकड़ी, वह क्लाइमैक्स तक जारी रही. यह फिल्म एक परफेक्ट एंटरटेनमेंट कॉम्बो है. फिल्म आपको अपनी सीट से हिलने नहीं देगी.   फिल्म इमोशन से भरपूर है और अक्षय ने उन इमोशन के साथ इतना जबरदस्त अभिनय किया है कि यह देखने लायक है. फिल्म की कहानी एक ऐसे व्यक्ति के बारे में है जो अपनी खुद की एयरलाइंस खोलना चाहते है जिसके जरिए वह आम लोगों को आधे दामों पर हवाई टिकट उपलब्ध करा सके और उसकी भूमिका में आपको अक्षय कुमार नजर आएंगे. इस फिल्म की कहानी कैप्टन गोपीनाथ की किताब ‘सिंपल फ्लाई: ए डेक्कन ओडिसी’ पर आधारित है. फिल्म में अक्षय के साथ आपको राधिका मदान मुख्य अभिनेत्री के तौर पर नजर आएंगी, जिन्होंने इस बार अपना सर्वश्रेष्ठ दिया है और यह उनके करियर की बेस्ट फिल्म होने वाली है. फिल्म में वीर अपनी एयरफोर्स की नौकरी छोड़कर एक ऐसे मिशन पर निकलता है जिसमें जीत की संभावना शायद नामुमकिन है. वीर अपनी खुद की एयरलाइन खोलना चाहता है,    लेकिन जिसके पास भी वो अपना प्रस्ताव लेकर जाता है, उसे वहां से निराशा ही मिलती है. कोई भी बिजनेसमैन उसकी मदद के लिए आगे नहीं आता. वीर हार नहीं मानता और इसमें उसकी पत्नी रानी (राधिका मदान) उसकी बहुत मदद करती है. रानी हर मुश्किल में उसकी साथी बनी रहती है. रानी की अपनी बेकरी की दुकान है. वीर फिर कई एयरलाइंस के मालिकों से मिलने की कोशिश करता है, लेकिन कोई भी उसे समय देने से मना कर देता है. फिर एक बार उसकी मुलाकात परेश गोस्वामी (परेश रावल) से होती है, जो एक एयरलाइंस का मालिक होता है. परेश से मुलाकात के बाद वीर की जिंदगी कैसे बदलने लगती है? ये जानने के लिए आपको खुद सिनेमाघर जाकर पूरी फिल्म देखनी होगी, जहां आपको इस सवाल का जवाब भी मिल जाएगा कि वीर अपने मकसद में कामयाब होता है या नहीं.   एक्टिंग की बात की जाए तो अक्षय कुमार और राधिका मदान के अलावा परेश रावल और सीमा बिस्वास सहित तमाम सितारों ने अपने-अपने किरदारों के साथ इंसाफ किया है. सभी की एक्टिंग आपको परफेक्ट लगेगी. फिल्म का फर्स्ट हाफ आपको इतना उत्साहित कर देगा कि आप सेकंड हाफ का इंतजार करने लगेंगे और सेकंड हाफ आते-आते आप काफी इमोशनल भी हो जाएंगे. फिल्म खत्म हो जाएगी, लेकिन आपको ऐसा महसूस होगा कि कहानी चलती और आप सिर्फ देखते रहें. सुधा कोंगरा ने क्या कमाल का निर्देशन किया है. उनके निर्देशन में बनी इस फिल्म को आप अपने पूरे परिवार के साथ देख सकते हैं. इमोशन के अलावा भी इस फिल्म में और भी बहुत कुछ है, जो आपका मनोबल बढ़ाएगा. कहते हैं सिनेमा संचार का सबसे बड़ा माध्यम है और अगर ‘सरफिरा’ जैसी फिल्में बनने लगेंगी तो लोगों तक बहुत अच्छा संदेश पहुंचेगा. फिल्म में जीवी प्रकाश कुमार, तनिष्क बागची और सुहित अभ्यंकर के संगीत भी काफी अच्छे हैं.   *बायोपिक के खिलाड़ी का नया खेल*   अक्षय कुमार काबिल अभिनेता हैं, इसमें संदेह नहीं है। इसके पहले भी वह असल जिंदगी से प्रेरित फिल्मों में अभिनय कर चुके हैं। ‘पैडमैन’, ‘सम्राट पृथ्वीराज’, ‘मिशन रानीगंज’, ‘केसरी’ और ‘एयरलिफ्ट’ जैसी उनकी फिल्में असल जिंदगी की कहानियों को ही परदे पर मनोरंजन का जरिया बनाने की कोशिशें रही हैं और इनके नतीजों से स्पष्ट होता है कि अक्षय कुमार बायोपिक फिल्मों के लिए फिट कलाकार नहीं है। सिनेमा में अपना खास तरह का मैनरिज्म स्थापित कर अपनी आभा विकसित करने वाले कलाकारों के सामने यही मैनरिज्म उनकी सबसे बडी बाधा भी बन जाता है। अक्षय कुमार का एक खास अंदाज में चलना, उनके हाथों की हरकतें और रोते समय का उनका अभिनय, एक फरमे में फंस चुका है। अक्षय को इससे बाहर निकालने का दुस्साहस अब कोई बिल्कुल नया निर्देशक ही कर सकता है, जिसे उनके आभामंडल से कोई लेना देना न हो।   विशेष संवाददाता, (प्रदीप जैन) |

admin

Jul 12, 2024

Udne Ki Aasha: Sachin angry with Sailee

Mumbai, July 12, 2024 (UTN). Udne Ki Aasha, which is produced by Rahul Kumar Tewary in collaboration with Rolling Tales Production, is keeping the audience hooked with its constant twists and turns. episode, Sachin explains to Sailee why he's taking her to the Shiv temple. Sailee is scared to go to the money lender, but she goes for Sachin. The money lender sees Sachin and asks for the final date for full payment.    Renuka sees Sachin and the money lender talking and thinks they are making plans against her. Sachin finds a man who was involved in liquor smuggling. After being beaten by Sachin, he tells him that Sudhakar is behind all this. On the other side, Sailee is happy that now Sachin understands her, and they are coming closer. In Friday's episode, Shakuntala comes to know that Sailee and Sachin don't know anything about Renuka and the money lender's deal.    Renuka is happy to hear that. Sachin goes to Sudakar's place, and a huge fight happens between them. Sachin informs the police and asks them to arrest Sudakar, but they tell Sachin to bring proof; otherwise, don't come again. Sachin is furious to know that Akash knew about Sudhakar from the start and that Sailee only told Akash to hide it from him. Udne Ki Aasha airs on Star Plus from Monday to Sunday at 9 p.m. The show features Neha Harsora and Kanwar Dhillon in lead roles.   Mumbai-Reporter, (Hitesh Jain).

admin

Jul 12, 2024

AIIMS Nurse turned Poet and Actor Gunjan Saini shares her journey

Mumbai, July 12, 2024 (UTN). Delhi girl Gunjan Saini, who was part of the 'Gutar Gu' series on Amazon Mini TV is creating all the right buzz in Mumbai currently with her incredible talent in writing. Gunjan was raised in Delhi. Her father was a government employee so she had to change schools a lot. She decided to start her career as a nurse and also started preparing for that. She says, "For my graduation, I took the All India Nursing Exam of AIIMS and got into AIIMS Bhopal and went there for my graduation. Due to peer pressure, I took science in 11th and 12th grades. After that, I was very confused about what I should do, although my father helped me a lot with options. I had a neighbor who was a nurse at AIIMS, and she was earning well.    Seeing her, I wanted to pursue nursing, which became my main goal. However, during my journey, I realized that nurses in India are not highly respected. Once, when we were disrespected, the authorities told her that as a nurse, she should learn to accept things, which hurt me a lot as it affected my self-esteem. In my second year of nursing, I wanted to leave and pursue physiotherapy, but my father advised me to finish the course and later explore options during my master's. In my third year, I thought a lot about life and realized that I enjoyed dancing and acting in school. So I decided to choose this as a profession. I told my father I wanted to go to Mumbai to study mass communication. He suggested Pune, but admissions were closed there. So I came to Mumbai in 2018 to pursue my masters in mass communication from Hinduja College.”   Gunjan's short videos on her social media have got a lot of appreciation from her followers. She says,"I have been writing since my school days, but I gave my first performance in Bhopal at my college. I performed at an open mic on a social issue, and when I finished the poetry, many people were crying, which motivated me. I remember my roommate asking if I wanted to pursue this hobby professionally, but at that time, I didn’t see many people making a living as full-time poets, so I was unsure. When I came to Mumbai, I got opportunities for writing and stage performances, so writing became my first priority, and acting became secondary.” Gunjan, who is multi-talented with skills in writing poetry and lyrics, considers herself an artist first. She adds, "I call myself an artist. I am a poet and writer, as I sometimes write ads.  I have written one song and want to write more.   Writing songs is like writing poetry for me. I am not a copywriter, as I haven’t written regular ads. ”Gunjan shares her current career focus. She says, "My focus is now on building my social media presence and doing more live shows. I am in touch with a few musicians and am writing songs with them. My goal is to improve my content creation and achieve significant milestones.” When asked about her mentor, Gunjan shares an honest opinion, "Whether it’s writing or acting, I haven’t had a mentor. I find motivation on my own. I usually watch videos when I feel down and become my own mentor. Of course, different people have guided me at different phases. When I started poetry, a few full-time poets gave me hope, and they became friends. Poets like Amandeep Singh, whose videos I watched in the hostel, have helped me a lot in my journey.”   Mumbai-Reporter, (Hitesh Jain).

admin

Jul 12, 2024

प्रशंसा शर्मा, जिन्हें "मिर्जापुर 3" में अपने प्रदर्शन के लिए शानदार समीक्षा मिल रही है

मुंबई, 12 जुलाई, 2024 (यूटीएन)। वह अली फज़ल के साथ अपनी बातचीत के बारे में भी बात करती हैं, जिन्होंने उनके काम की प्रशंसा की है, और फिल्मों और अभिनय की कला के प्रति उनके साझा जुनून के बारे में भी बात की है। प्राग फिल्म स्कूल और द ड्रामा स्कूल, मुंबई से पेशेवर रूप से प्रशिक्षित अभिनेता प्रशांसा ने अपने करियर की शुरुआत रत्ना पाठक और दादी पदमसी जैसे अनुभवी कलाकारों के साथ थिएटर से की थी। प्रशंसा शर्मा ने भारत के कुछ सबसे बड़े और समीक्षकों द्वारा प्रशंसित शो जैसे "दहाड़" और "मिर्जापुर" में उल्लेखनीय काम किया है।  अपने किरदारों को पूरी तरह से मूर्त रूप देने और अपनी भूमिकाओं में जीवंत प्रामाणिकता लाने की उनकी प्रतिभा उन्हें सबसे रोमांचक नई प्रतिभाओं में से एक बनाती है।  उन्हें अपने सह-कलाकारों, विशेषकर अली फज़ल से भी काफी प्रशंसा मिली है, जो वेब श्रृंखला में गुड्डु पंडित की मुख्य भूमिका निभाते हैं।   जब उनसे उनके सह-अभिनेता, अली फज़ल के बारे में पूछा गया, तो प्रशांसा ने स्पष्ट रूप से साझा किया "गुड्डू भैया में ऐसी कोमलता और बच्चों जैसी चंचलता लाने की अली फज़ल की क्षमता बेहद प्रेरणादायक है। वह अब अपनी फिल्म 'गर्ल्स विल बी गर्ल्स' के साथ एक निर्माता हैं और कई अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोहों में पुरस्कार जीत चुके हैं।" एक अभिनेता के रूप में मेरे प्रदर्शन के लिए उनकी सराहना करना संक्रामक है, और यह बहुत मायने रखता है कि वह मुझमें क्षमता देखते हैं;  "मिर्जापुर" में प्रशंसा शर्मा के काम को व्यापक रूप से सराहा गया है, सीज़न का समापन उनके किरदार के लिए आशाजनक नोट पर हुआ है।  यह प्रत्याशा "मिर्जापुर" सीज़न 4 में आगे क्या होने वाला है, इसके लिए उत्साह पैदा करती है, और हम आने वाले वर्षों में प्रशांसा द्वारा किए जाने वाले सभी महान कार्यों का इंतजार नहीं कर सकते।   मुंबई-रिपोर्टर, (हितेश जैन)।

admin

Jul 12, 2024

अभिनेत्री शीना चौहान ने एक पौराणिक श्रृंखला थ्रिलर में लिलिथ - एक राक्षसी और निभाई है एडम की पत्नी की भूमिका

मुंबई, 12 जुलाई, 2024 (यूटीएन)। शीना चौहान अमेरिका में 2 महीने की शूटिंग के बाद 4 जुलाई को भारत लौट आईं और तुरंत अपनी मुख्य नकारात्मक भूमिका लिलिथ - ए शी डेविल की शूटिंग के लिए सेट पर चली गईं। शीना ने हाल ही में अपनी हॉलीवुड फिल्म नोमैड की शूटिंग पूरी की, जिसने अधिकांश देशों में शूट की गई फिल्म के लिए गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड की बराबरी की, और उनकी फिल्म अमर प्रेम को कान्स फिल्म फेस्टिवल में आधिकारिक भारत खंड में लॉन्च किया गया, जो पूरी तरह से उनकी नई वेब श्रृंखला पर केंद्रित थी। लिलिथ बाइबिल का एक पात्र है - एडम की पहली पत्नी, जिसे उसकी बात न मानने के कारण ईडन गार्डन से निकाल दिया गया था।    वह ईश्वर के स्त्री पहलू के बुरे प्रतिबिंब के रूप में भी प्रकट होती है।  समानता के उनके दावे पर, उन्हें स्वतंत्रता के प्रतीक के रूप में पुनः प्राप्त किया गया। मैं इस वेब-सीरीज़ के निर्माताओं से बहुत प्रभावित हूं - उन्होंने मेकअप और विशेष प्रभावों के मामले में काफी मेहनत की है - मुझे एक ऊंचे तार से जोड़ा गया था, जिसने मुझे अत्यधिक विस्तृत कृत्रिम मास्क में कार से बाहर निकाला, 30 मीटर हरी स्क्रीन के सामने!  मैं अभी-अभी अपनी हॉलवुड फिल्म से लौटा हूं, लेकिन वाह - इस तरह के विशेष प्रभावों के लिए बंबई वापस आना मुझे दिखाता है कि भारतीय फिल्म उद्योग कितनी तेजी से पश्चिम के साथ आगे बढ़ रहा है।     अपने किरदार के बारे में वह कहती हैं:    जब मैंने अपनी ऐतिहासिक बायोपिक संत तुकाराम की शूटिंग पूरी की, जो 15वीं शताब्दी की फिल्म थी, जिसमें मैंने अवली बाई का किरदार निभाया था, तो मुझे लिलिथ की भूमिका की पेशकश की गई - इसलिए मैं एक मिनट में एक संत की पत्नी की भूमिका निभाने से लेकर अगले मिनट में एक शैतान की बेटी की भूमिका निभाने लगी!  मुझे बहुत सारे आकर्षक प्राचीन ग्रंथ पढ़ने पड़े - ऐसा कहा जाता है कि कहानी बाइबिल से हटा दी गई थी, जिसमें इतना रहस्य जोड़ा गया था कि मैं मंत्रमुग्ध हो गया।  और फिर, सभी चरित्र संदर्भों को पढ़ने और शोध करने के बाद, अगली बात जो मुझे पता चली, वह थी छह घंटे का मेकअप और फिर एक दुष्ट सुपरवुमन की तरह हवा में पंद्रह फीट ऊपर लहराने के लिए कलाबाज़ी का प्रशिक्षण! विल्फ्रेड फर्नांडिस के नेतृत्व में अलौकिक नाटक, आईडब्ल्यूआईएल प्रोडक्शंस के पुरस्कार विजेता अंतर्राष्ट्रीय ऑस्ट्रेलियाई निर्माताओं ने अभी आठ एपिसोड की श्रृंखला की शूटिंग पूरी की है, जो विशेष प्रभावों के लिए व्यापक ग्रीन स्क्रीन तकनीक का उपयोग करती है। ये छवियां, जो लिलिथ का प्रतिनिधित्व करती हैं, सर्ज रामेली द्वारा शूट की गई थीं, जो दुनिया भर में 100 से अधिक दीर्घाओं और 7 ललित कला फोटोग्राफी पुस्तकों में काम करने वाले एक प्रसिद्ध अंतरराष्ट्रीय फोटोग्राफर हैं।    वह जल्द ही रिलीज होने वाली फिल्म - ए पेरिसियन इन हॉलीवुड में मुख्य अभिनेता के रूप में भी अपनी शुरुआत कर रहे हैं।  सर्ज एक निर्देशक के रूप में कई फिल्म परियोजनाओं पर काम कर रहे हैं और उन्होंने 'आर्थर' सहित कई लघु फिल्मों का निर्देशन किया है, जो 20 मिलियन से अधिक बार देखे जाने के साथ यूट्यूब पर सबसे ज्यादा देखी जाने वाली एक्शन शॉर्ट्स में से एक थी।  दिल्ली में पांच साल तक थिएटर करने के बाद, शीना चौहान को उनकी फिल्म एंट स्टोरी के लिए सात बार के राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता जयराज शंघाई फिल्म फेस्टिवल्स द्वारा मलयालम मेगास्टार ममूटी के साथ लॉन्च किया गया था, जिसे नेटफ्लिक्स ने खरीदा था।  शीना ने फेम गेम में माधुरी दीक्षित और द ट्रायल में काजोल के साथ अभिनय किया और अगली बार वह आदित्य ओम की संत तुकाराम में सुबोध भावे के साथ मुख्य महिला भूमिका निभाती नजर आएंगी। शीना की दक्षिण एशिया राजदूत हैं, जहां उन्हें 170 मिलियन से अधिक लोगों में बुनियादी अधिकारों और समानता के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए संयुक्त राष्ट्र में ह्यूमन राइट्स हीरो अवार्ड से सम्मानित किया गया था। जून 2024 में, उन्हें उनके मानवीय कार्यों के लिए संयुक्त राज्य अमेरिका में राष्ट्रपति बिडेन द्वारा हस्ताक्षरित राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित किया गया।   मुंबई-रिपोर्टर, (हितेश जैन)।

admin

Jul 12, 2024