महाराष्‍ट्र बंद - लखीमपुर खीरी हिंसा के विरोध में यहां जानें क्‍या रहेगा खुला - क्‍या रहेगा बंद

महाराष्‍ट्र बंद - लखीमपुर खीरी हिंसा के विरोध में यहां जानें क्‍या रहेगा खुला - क्‍या रहेगा बंद

महाराष्‍ट्र,11 अक्टूबर 2021 (यू.टी.एन.)।  इस घटना में 8 लोगों की मौत हुई थी. इनमें से 4 किसान थे. मामले में केंद्रीय गृह राज्‍यमंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा की गिरफ्तारी हो चुकी है.महाराष्ट्र बंद के दौरान मुंबई पुलिस किसी भी अप्रिय घटना से बचने लिए सोमवार को सड़कों पर अपने कर्मियों की तैनाती बढ़ाएगी. पुलिस अफसरों का कहना है कि राज्य रिजर्व पुलिस बल (एसआरपीएफ) की तीन कंपनियां, होमगार्ड के 500 जवान और स्थानीय सशस्त्र इकाइयों के 400 जवानों को पहले से ही नवरात्रि के दौरान सुरक्षा के लिए अतिरिक्त जनशक्ति के रूप में तैनात किया गया है. लेकिन बंद को ध्यान में रखते हुए मुंबई पुलिस किसी भी स्थिति से निपटने के लिए अधिकतम जनशक्ति का उपयोग करेगी. सोमवार को सड़कों पर पुलिसकर्मियों की संख्या बढ़ाई जाएगी. छत्रपति शिवाजी मार्केट यार्ड ट्रेडर्स एसोसिएशन ने भी इस बंद का समर्थन किया है. उसका कहना है कि सोमवार को फज-सब्‍जी, प्‍याज, आलू के बाजार पूरी तरह से बंद रहेंगे. व्‍यापारी संगठन ने सभी व्‍यापारियों से सोमवार को अपनी दुकानें बंद रखने की अपील की है.

उन्‍होंने किसानों से भी अपील की है कि वे अपनी उपज को सोमवार को शहरों में ना लाएं. हालांकि इस दौरान जरूरी सेवाएं जारी रहेंगी. किसान सभा ने इस बंद को समर्थन दिया है. संगठन ने कहा है कि 21 जिलों में इसके कार्यकर्ता समान विचार वाले संगठनों के साथ बंद को सफल बनाने के लिए समन्वय स्थापित कर रहे हैं. वहीं बीजेपी ने इस महाराष्‍ट्र बंद का विरोध किया है. विपक्ष के नेता और पूर्व मुख्‍यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा है कि सत्‍तारूढ़ दल इस मामले का राजनीतिकरण कर रहे हैं. बीजेपी विधायक नितेश राणे ने भी राज्‍य सरकार को चेतावनी दी है कि वो दुकानों को जबरन न बंद करवाएं. उनका कहना है कि अगर दुकानदारों को एमवीए कार्यकर्ताओं ने दुकानें बंद करने को मजबूर किया तो उन्‍हें बीजेपी कार्यकर्ताओं का सामना करना पड़ेगा. उन्‍होंने कहा कि पुलिस यह सुन‍िश्चित करे कि किसी पर भी दबाव ना डाला जाए.

वहीं एनसीपी के प्रवक्ता नवाब मलिक ने रविवार को बताया था कि आधी रात से प्रदेश व्यापी बंद की शुरूआत हो जाएगी. उन्होंने कहा था कि शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के कार्यकर्ता नागरिकों से मिल रहे हैं और उनसे बंद में शामिल होने तथा किसानों के साथ एकजुटता दिखाने का आग्रह कर रहे हैं. राकांपा नेता कहा कि एमवीए की मांग है कि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा को बर्खास्त किया जाए.महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले ने कहा कि उनकी पार्टी के कार्यकर्ता और नेता राजभवन के बाहर विरोध प्रदर्शन करने के लिए मौन व्रत करेंगे. शिवसेना के राज्यसभा सदस्य संजय राउत ने शनिवार को कहा था कि उनकी पार्टी पूरी शक्ति के साथ बंद में शामिल होगी. उन्होंने यह भी कहा था केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए किसान विरोधी कानूनों के खिलाफ लोगों को जगाना आवश्यक है.