महिलाओं को सशक्त होने के लिए विधिक अधिकारों को जानना जरूरी

महिलाओं को सशक्त होने के लिए विधिक अधिकारों को जानना जरूरी
हरदोई,15 सितंबर 2021 (यू.टी.एन.)।  जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान (डायट) द्वारा आज मिशन शक्ति वेबिनार कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसमें महिला कर्मचारियों ने हिस्सा लिया और महिलाओं की समस्याओं व उनके निस्तारण पर चर्चा की। कार्यक्रम के आयोजक डायट प्राचार्य रावेंद्र सिंह बघेल ने वेबीनार के उद्देश्य और महत्ता पर प्रकाश डाला कार्यक्रम में मुख्य वक्ता अलका पांडेय सचिव ज़िला विधिक प्राधिकरण ने विधिक अधिकारों के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी उपलब्ध कराई, उन्होंने कहा कि महिलाओं के विधिक अधिकारों का ज्ञान महिला सशक्तिकरण के लिए अपरिहार्य शर्त है। उन्होंने घरेलू हिंसा अधिनियम व अन्य महिला अपराधों संबंधी कानूनों के बारे में जागरूकता फैलाने की अपील की।
विशिष्ट वक्ता पूनम तिवारी ने ओलंपिक में महिलाओं द्वारा सफलता की कहानी का उदाहरण देते हुए बालिकाओं को खेल द्वारा सशक्त होने पर जोर डाला। कार्यक्रम के दौरान डायट प्रवक्ता श्रीमती निधि राय, श्रीमती अनीता कुमारी, श्रीमती भारती सिंह, आनंद कुमार, पीतांबर चौरसिया ने महिला सशक्तिकरण पर अपने विचार व्यक्त किए। बेसिक अध्यापक मंजू वर्मा, ऐश्वर्या बाथम, निरुपमा सिंह, स्नेह सिंह व अभिषेक गुप्ता ने भी अपने अपने विचार साझा किए। कार्यक्रम का संयोजन शिखा चौहान डायट प्रवक्ता द्वारा व संचालन अपूर्वा अवस्थी द्वारा तथा तकनीकी सहयोग नेहा विश्वकर्मा व शबीना खान द्वारा किया गया।
जिला संवाददाता-हरदोई, (तेजस्वी प्रताप सिंह) |