चक्रवाती तूफान 'यास' का खतरा

चक्रवाती तूफान 'यास' का खतरा

नई दिल्ली। मौसम विभाग चक्रवात यास के खतरे को लेकर पहले ही आगह कर चुका है। यह चक्रवाती तूफान बंगाल और ओडिशा में तांडव मचा सकता है। इसका असर झारखंड और बिहार में भी देखे जाने की संभावना है। मौसम विभाग ने भविष्यवाणी की है कि यास बहुत गंभीर चक्रवाती तूफान का रूप ले सकता है जिसमें लगभग 155-165 किमी प्रति घंटे से लेकर185 किमी प्रति घंटे की रफ्तार तक चल सकती है। हालांकि राज्यों ने इस चक्रवाती तूफान से लड़ने के लिए तैयारियां कर ली हैं।बचाव और राहत टीमों को वायुमार्ग से एक स्थान से दूसरे स्थानों पर भेजा जा रहा है और रक्षा विमानों तथा नौसैनिक पोतों को सतर्क रखने को कहा गया है। 

यास के बुधवार को ओडिशा और पश्चिम बंगाल के पूर्वी तटीय इलाकों में दस्तक देने अनुमान है। इससे एक सप्ताह पहले ही पश्चिमी तट आया 'ताउते' चक्रवात बर्बादी की दास्तान छोड़ गया है। मौसम विभाग ने कहा है कि दबाव वाले क्षेत्र के सोमवार तक चक्रवाती तूफान ''यास में बदलने की संभावना है।

चक्रवाती तूफान का सामना करने के लिए कैसी तैयारियां है इसको लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को एक उच्च स्तरीय बैठक में राज्यों एवं केंद्र सरकार की एजेंसियों की तैयारियों की समीक्षा की और समुद्री गतिविधियों में शामिल लोगों को समय से सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के निर्देश दिए।