कुंडू सरोवर तालाब ब्रज की पहचान इनके आसपास होता है "भगवान कृष्ण और राधा का वास, जिला पंचायत राज अधिकारी किरन चौधरी व डॉ हरीश रौतेला

कुंडू सरोवर तालाब ब्रज की पहचान इनके आसपास होता है "भगवान कृष्ण और राधा का वास, जिला पंचायत राज अधिकारी किरन चौधरी व डॉ हरीश रौतेला

मथुरा,14 सितंबर 2021 (यू.टी.एन.)।  राधा जन्माष्टमी के पावन पर्व पर मथुरा जनपद में सभी विकास खण्डों के अंतर्गत प्राचीन मान्यता के अनुसार एवं भगवान श्री कृष्ण की लीला स्थली तथा ब्रज की धरोहर के रूप में 501 तालाबों का पूजन एवं वृक्षारोपण का कार्यक्रम आयोजित किया गया। बलदेव विकास खंड के धनेंटा गांव में तालाब पूजन का भव्य कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि स्वयं सेवक संघ के प्रांतीय प्रचारक डॉ हरीश रौतेला उपस्थित रहे साथ ही कार्यक्रम में सांसद प्रतिनिधि जनार्दन शर्मा, नगर निगम के सीईओ क्रांति शेखर,परियोजना निदेशक श्री बलराम कुमार, डीसी मनरेगा,एवं जिला पंचायत अधिकारी किरन चौधरी ,तालाब संचालक अजय सिकरवार ,खंड विकास अधिकारी,एडीओ पंचायत, प्रधान,सचिव मौजूद रहे। डाक्टर रौतेला ने कहा कि, तालाब पूजन कार्यक्रम का मूल उद्देश्य मथुरा जनपद की खारे पानी की समस्या को दूर करना एवं आम जनमानस की समस्या को दूर करना है। यदि तालाब संरक्षित रहेंगे तो आने वाले समय में ब्रिज में कहीं भी पानी की कमी नहीं रहेगी,,  डॉक्टर  हरीश रौतेला ने इस अवसर पर ग्रामीणों को वृक्षारोपण को बढ़ावा देने, जल संरक्षण, तालाबों की साफ-सफाई एवं संरक्षण तथा ग्राम पंचायत में साफ सफाई हेतु आम जनता को प्रेरित किया।

साथ ही जिला पंचायत राज अधिकारी किरन चौधरी ने अधीनस्थों को संबोधित करते हुए कहा कि ब्रज की पहचान, ब्रज की परंपरा तालाब, कुंड ,सरोवर इत्यादि से है। इनके रखरखाव में किसी भी प्रकार की कमी ना होने दी जाए। यह कार्य नहीं बल्कि हृदय भाव और धार्मिक भावना के तहत किया जाए,, इस अवसर पर उन्होंने सचिव ग्राम पंचायत एवं प्रधान को निर्देशित करते हुए कहा कि पर्यटन के उद्देश्य से तालाब के किनारे सोलर लाइट एवं ग्रामीणों के लिए बैठने के लिए बेंच भी लगाएं, जिससे कि यहां पर आम जनता एक स्वच्छ वातावरण महसूस कर सकें ,,इसी कड़ी में फलदार वृक्षों को लगवाने के लिए भी प्रेरित किया। जिला पंचायत राज अधिकारी ने कहा कि तालाब कुंड सरोवर के किनारे किसी प्रकार का अतिक्रमण बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इस अवसर पर अजय सिकरवार ने ग्राम वासियों को तालाब संरक्षण एवं रखरखाव हेतु शपथ दिलाई। तालाब पूजन के इस कार्यक्रम में सैकड़ों की संख्या में ग्रामीणों ने भागीदारी की।